Loading...
Hindi

मोबाइल के इस्तेमाल से पहुंच रहा है बच्चों के दिमाग को नुकसान

Please follow and like us:

आज के समय में बच्चों के द्वारा मोबाइल का इस्तेमाल काफी किया जाता है ऐसे में यह उनके मानसिक स्तर पर काफी बुरा प्रभाव डालता है ऐसे में आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे की कैसे मोबाइल आपके बच्चे के लिए खतरनाक सिद्ध होता जा रहा है जानिए क्या है इस समस्या से निपटने का सही तरीका।

यह बात अक्सर देखि जाती है जो बच्चे किशोरावस्था से पहले मोबाइल का इस्तेमाल शुरू करदेते है उनका मानसिक विकास भी रुक जाता है। इसके अलावा मोबाइल से निकलने वाली किरणों से भी बच्चों को बेहद नुकसान पहुँचता है।

बढ़ा देता है कैंसर का खतरा
कई शोधों में यह पाया गया है की मोबाइल के सत्यधिक इस्तेमाल से बच्चों को कैंसर हो सकता है लेकिन कई शोधों में इस बात को नाकारा भी गया है। लेकिन अब वैज्ञानिक ध्यान देना चाहते हैं कि क्या बच्चों के विकसित हो रहे दिमाग को वयस्कों के मुकाबले ज्यादा खतरा हो सकता है? इसकी एक वजह तो यह है कि उनका तंत्रिका तंत्र इस उम्र में विकसित हो रहा होता है. दूसरी वजह यह कि कम उम्र में मोबाइल का इस्तेमाल शुरू करने की वजह से वे मोबाइल की रेडियो तरंगों का ज्यादा लंबे समय तक सामना करते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक पिछले 20 साल में मोबाइल फोन से संभावित खतरों पर कई शोध किए जा चुके हैं. ब्रिटिश स्वास्थ्य पॉलिसी के दिशानिर्देशों के अनुसार 16 साल से कम उम्र के बच्चों को केवल बहुत जरूरी काम के लिए ही मोबाइल फोन का इस्तेमाल करना चाहिए. जितना संभव हो टेक्स्ट मेसेज को प्राथमिकता देनी चाहिए. टोलेनाडो के मुताबिक मोबाइल तकनीक का इतना विस्तृत रूप से इस्तेमाल अभी हमारे जीवन के लिए नया है. इसलिए स्कैंप स्टडी इसके प्रभावों के बारे में प्रमाण जुटाने के लिए बहुत जरूरी है, ताकि लोग समझ बूझ कर अपने लिए जीवन जीने का तरीका चुन सकें.

हम आशा करते है की यह जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक सिद्ध हुई होगी और आप इसे अपने मित्रों के साथ आवश्य शेयर करेंगे। अगर इस लेख से जुड़ा आपका कोई सुझाव या टिपण्णी हो तो हमारे साथ आवश्य शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *